राष्ट्रीय

वाराणसीः मिठाई बंटवारे को लेकर पूर्व डीजीपी के बेटे की गोली मारकर हत्या

वाराणसीः मिठाई बंटवारे को लेकर पूर्व डीजीपी के बेटे की गोली मारकर हत्या

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के सारनाथ थाना क्षेत्र के अशोक विहार कॉलोनी में पूर्व डीआईजी के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में घायल को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद मृतक के परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान जिले के एससपी ने परिजनों को समझाया तब जाकर उन्होंने मृतक का शव पुलिस के हवाले किया। पूरा विवाद दीपावली की मिठाई की बंटवारे को लेकर शुरू हुआ था। हत्यारोपी कांग्रेस नेता और कंस्ट्रक्शन कंपनी के डायरेक्टर पंकज चौबे घटना के बाद से फरार है।

दरसअल, अशोक विहार कालोनी के फेज - 2 पर श्री साई बाबा इंफ्राप्रोजेक्ट के चेयरमैन गोपाल सिंह के मकान पर सभी पांच डायरेक्टर दीपावली के त्यौहार को लेकर भेजे जाने वाली मिठाई और गिफ्ट के लिए मीटिंग कर रहे थे और पार्टी कर रहे थे। इस बीच शराब के नशे में मिठाई बांटने को लेकर विवाद शुरू हुआ और कम्पनी के डायरेक्टर बलवंत सिंह और पंकज चौबे के बीच नोकझोंक बढ़ता देख गोपाल सिंह ने सभी को अपने घर जाने को कहा। लेकिन विवाद नहीं थमा और गोपाल सिंह के मकान के बाहर ही बलवंत सिंह और पंकज चौबे आपसे में भीड़ गए, जिसके बाद पंकज ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल निकाल अपने ही पार्टनर बलवंत सिंह को गोली मार दी।

इस घटना के बाद परिजन बलवंत सिंह को लेकर एक निजी चिकित्सालय पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन शव को गाड़ी में ही रख हंगामा करना शुरु कर दिया। आनन फानन में कई थानों की फोर्स को मौके पर बुलाया गया और खुद जिले के एसएसपी आनद कुलकर्णी भी मौके पर पहुंचे, जिसके बाद परिजनो को समझाने के 5 घण्टे बाद परिजनों ने शव को पुलिस के हवाले किया। वाराणसी के एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि पार्टी के बीच दो पार्टनर में विवाद हुआ है और गोली लगने से बिल्डर बलवंत सिंह की मौत हुई है। आरोपी की तलाश में पुलिस की कई टीमें लगाई गई हैं।

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email