बस्तर

???? कोरोना संकट की इस घड़ी में बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा उतरा मैदान में

???? कोरोना संकट की इस घड़ी में बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा उतरा मैदान में

प्रेस विज्ञप्ति 

* रोजाना आय से घर चलाने वाले जरूरतमंद परिवारों  को वितरण किया जा रहा राशन/सब्जियां

*सरकार की व्यवस्था ने जनता को जनता के भरोशे छोड़।कोरोना के अलावा भूख से भी लड़ना एक चुनोती?

*जनता से अपील मद्त करे संस्थाओं की और जुड़े रिलीफ अभियान से
* बस्तर में कोरोना वायरश से लड़ने हेतु सरकारी फरमान लॉक डाउन ने धीरे -धीरे चुनोतियों को जन्म देना शुरू कर दिया है। वह समस्या है
 
* भूख की ,भले ही लॉक डाउन कोरोना संक्रमण की श्रंखला को तोड़ने में बेहतर तरीका कारगर हो। पर यह हजारों -लाखों लोगों के सामने भुखमरी की समस्याओं को ले आया है। बस्तर में एक बड़ा वर्ग ऐसा भी है। जो रोज मेहनत कर कमा के अपने व अपने परिवार का पेट भरता है। और जो 2011 के गरीबी रेखा जनगणना के सर्वे में नामंकित नही है। जिस से उसे सरकारी राशन का वितरण का लाभ नही मिल रहा है। जिसके सामने कोरोना व भूख के रूप में दोहरी चुनोतियाँ रोज दस्तक दे रही है। जिस से उसे ओर उसके परिवार को लड़ना पड़ रहा है। जमीनी स्तर के जनप्रतिनिधियों ने भी इन समस्याओं को समझना शुरू कर दिया है। और लगातार शासन व प्रशासन तक इनकी मद्त के लिए गुहार लगाया जा रहा है* बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा ने जमीनी स्तर पर शासन व प्रशासन की लॉक डाउन को सफल बनाने व उस की चुनोतियाँ से निपटने हेतु बताये गए योजनाओं के क्रियान्वयन को समझा, तब यह बारीकियां छन्न कर बहार आई ।ततपश्चात मोर्चा ने जनता की मद्त से जनता को राहत का अभियान प्रारम्भ किया है। जिसके चलते इस अभियान के प्रथम चरण में 200परिवारों को राशन व सब्जियों की मद्त बस्तर जिले के शहर व गांव के जरूरतमंदों की जानकारी मुहैया करवा राशन वितरण कार्य प्रारम्भ किया गया है। जिसके चलते अब तक शहर के विभिन वार्डो व ग्राम पंचायतों में चिन्हांकित जरूरतमंदों को राशन बाटने का कार्य प्रारम्भ किया गया


* पर यह मद्त भी ना काफी है। बिना जनता की मद्त के।क्योंकि शासन व प्रशासन की मद्त की गति नियमो से बंधी है। जिस में हर जरूरमंद मद्त सम्भव नही है। जितने भी सामाजिक संघटन व संस्थान जो इस आपदा की घड़ी में जरूरतमंदों की मद्त कर रहे है
* बस्तर  अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा उनके इस कदम का स्वागत व धन्यवाद ज्ञापित करता है। और इस विषम परिस्थितियों में बस्तर स्वास्थय विभाग के डॉक्टर व कर्मियों को भी सलाम करता है। जो कोरोना सुरक्षा उपकरण की कमी व जांच किट की कमी के बाद भी सरकार के बचाव अभियान की नाक बचाई है। और छ .ग. सरकार से यह मांग करता है। कि कोरोना संक्रमण के विरुद्ध इस अभियान में गरीबो व जरुतमन्दों को कोरोना से बचाने के अलावा भूख से भी बचाये व शासकीय योजनाओं लाभ के नियमो को शिथिल कर उनको भी पर्याप्त लाभ पहुचाये ,जो रोज मर्रा की कमाई के आधार पर अपने व अपने परिवार का पालन -पोषण करते है

*बस्तर अधिकार सयुक्त मुक्ति मोर्चा के रिलीफ अभियान में जनता से मद्त की गुहार व जुड़ने  की अपील करता है। इस अभियान का मुख्य रूप से नेतृत्व नवनीत चाँद,बोमड़ा राम मंडावी,भरत कश्यप ,बेनी फर्नाडिस, विक्रम लहरे,अभिनव चाँद,मनीष गढ़पाले,आरिफ खान, बी नागेश्वर राव, सनी,करन, बी एम राव,सुजीत नाग ,सतीश वानखेड़े आदि द्वारा किया जा रहा है।

 

 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email