मनोरंजन

हॉरर फिल्मों से डराने वाले निर्देशक श्याम रामसे का निधन

हॉरर फिल्मों से डराने वाले निर्देशक श्याम रामसे का निधन

एजेंसी 

मुंबई : 80 और 90 के दशक में दर्शकों को अपनी हॉरर फिल्मों से डराने वाले श्याम रामसे का बुधवार को यहां एक अस्पताल में सुबह निधन हो गया। 67 वर्षीय श्याम रामसे न्यूमोनिया से पीड़ित थे। उनके एक संबंधी ने पीटीआई को बताया ‘उन्हें स्वास्थ्य ठीक न होने की वजह से आज सुबह ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था न्यूमोनिया से उनका अस्पताल में देहांत हो गया।' खबरों के अनुसार, श्याम रामसे का अंतिम संस्कार विले पार्ले श्मशान में 18 सितम्बर को ही दोपहर में होगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुरानी हवेली' 'वीराना' और ‘तहखाना' जैसी हॉरर फिल्मों के लिए चर्चित सात ‘रामसे ब्रदर्स' में से श्‍याम रामसे भी एक थे। जो अपने पिता फतेहचंद रामसिंघानी के साथ विभाजन के बाद कराची से मुंबई चले आए थे। श्‍याम रामसे की फैमली में उनकी बेटियां साशा और नम्रता हैं।

 श्याम भारतीय सिनेमा में हॉरर फिल्मों की वजह से लंबे समय तक एक खास जगह रखने वाले रामसे ब्रदर्स में से एक थे। रामसे ब्रदर्स ने 1970 और 1980 के दशक में कम बजट में हॉरर फिल्में बनाईं जिन्हें दर्शकों ने खूब सराहा। माना जाता है कि इन हॉरर फिल्मों के पीछे असली सोच श्याम रामसे की होती थी। उन्होंने ‘दरवाजा', ‘पुराना मंदिर', ‘वीराना' और ‘द जी हॉरर शो' जैसी फिल्मों का निर्देशन कर बॉलीवुड में हॉरर फिल्मों का दरवाजा खोला था। उनकी ये हॉरर फिल्में दर्शकों को खूब भाती थीं, कम बजट में बनने वाली उनकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर खूब कमाई करती थीं। 

More Photo

    Record Not Found!


More Video

    Record Not Found!


Related Post

Leave a Comments

Name

Contact No.

Email